आत्मविश्वास के साथ तालमेल बनाए रखें, और विश्वास से शक्ति प्राप्त करते रहें। फिर देखिए, जीवन के हर संघर्ष को सफलता में बदलते हुए …. बस इस दृष्टांत को जेतपुर तालुका के वावडी गांव के किसान ममता गजेरा ने सच कर दिखाया है।

ममता मनसुखभाई गजेरा, जेतपुर तालुका के अंदर वावड़ी गाँव के एक छोटे से स्टेशन, ने गुजरात पुलिस ताला में सफलता हासिल की और अपने माता-पिता की इच्छाओं को पूरा किया। जेतपुर में कॉलेज करके अपने अंग्रेज़ नीलेश तिलला साहेब के मार्गदर्शन से, आपको यह कहते हुए सफलता मिलेगी कि श्री खोडलधाम ट्रस्ट द्वारा राजकोट में KDVS प्रेरित कक्षाओं में आपको सफलता मिलेगी। सफलता आप सभी को दिखाई देती है, लेकिन सफलता इस आत्मविश्वास के पीछे छिपी है कि सफलता एक संघर्ष से मिलती है। कुछ इस महिला ने अनुभव किया है।

ममता के पिता ने खेती से अपनी बेटी को पढ़ाया। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि मनसुखभाई ने भगवान को 5 लक्ष्मी दी हैं। ममता तीसरे नंबर पर हैं। उसको अपनी बेटी पर पूर्ण भरोसा था की उसकी बेटी इकदिन उसका नाम जरूर रोशन करेगी। ममता को भाई नहीं हे इसलिए उसने अपने पिता को बेटा बनकर साबित कर दिखाया और समाज को ये सन्देश भी दिया की बेटा-बेटी एक समान।

नई पोस्ट पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक और फॉलो करें: ખેડૂત પૂત્ર – Khedut Putra

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here